IANS

बालासाबेह के लिए सीबीएफसी की कैंची बहुत छोटी बात थी : संजय राउत

मुंबई, 12 जनवरी (आईएएनएस)| शिव सेना के दिवंगत नेता बाल ठाकरे के जीवन पर आधारित अपनी आगामी फिल्म ‘ठाकरे’ की रिलीज के लिए उत्साहित फिल्म निर्माता संजय राउत ने कहा कि केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) की कैंची महाराष्ट्र के वरिष्ठ नेता के लिए बहुत छोटी बात थी।

संजय राउत शनिवार को मुंबई में फिल्म के म्यूजिक लांच के मौके पर फिल्म प्रजेंटर ‘वायाकॉम 18 मोशन पिक्चर्स’ के मुख्य संचालन अधिकारी (सीओओ) अजीत अंधारे, फिल्म के मुख्य कलाकार अमृता राव, नवाजुद्दीन सिद्दीकी, शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, संगीतकार रोहन-रोहन और शिव सेना नेता आदित्य ठाकरे की मौजूदगी में संवाददाताओं से बात कर रहे थे।

इससे पहले सीबीएफसी के ‘ठाकरे’ के तीन दृश्यों और दो संवादों पर आपत्ति जताने की खबरें आईं थीं।

सीबीएफसी ने कथित तौर पर विशेष तौर पर बाबरी मस्जिद वाले दृश्य और मुंबई में रह रहे दक्षिण भारतीय समुदाय के खिलाफ उपयोग किए गए संवाद ‘यांडू गुंडू’ पर आपत्ति जताई थी।

सीबीएफसी द्वारा फिल्म के प्रमाण पत्र देने के सवाल पर राउत ने कहा, “आपसे किसने कहा कि सीबीएफसी को फिल्म से आपत्ति है? फिल्म के हिंदी संस्करण को सीबीएफसी ने प्रमाण पत्र दे दिया है। फिल्म में हर वो चीज है जो दर्शक देखना चाहते हैं।”

उन्होंने कहा, “मैं पहले ही एक बयान दे चुका हूं कि सीबीएफसी की कैंची बालासाहेब ठाकरे के लिए बहुत छोटी चीज थी। वे ऐसे थे जो दूसरों पर सेंसर (नियंत्रण) करते थे।”

‘ठाकरे’ पत्रकार और सांसद संजय राउत ने लिखी है और इसका निर्देशन अभिजीत पनसे ने किया है।

यह फिल्म हिंदी, मराठी और अंग्रेजी भाषाओं में रिलीज होगी।

यह फिल्म बाल ठाकरे के 93वीं जयंती 23 जनवरी को रिलीज होगी।

 

Show More

Related Articles

Back to top button
Close