IANS

तेलंगाना : दोपहर 1 बजे तक 48 फीसदी मतदान

हैदराबाद, 7 दिसंबर (आईएएनएस)| तेलंगाना विधानसभा चुनाव के लिए बड़ी संख्या में लोग अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए मतदान केंद्रों का रुख कर रहे हैं।

शुक्रवार को दोपहर एक बजे तक 48 फीसदी लोग मतदान कर चुके हैं।

हैदराबाद में चुनाव अधिकारियों तक पहुंची जानकारी के मुताबिक, 2.8 करोड़ से अधिक मतदाताओं में से 48.09 फीसदी अपने मताधिकार का प्रयोग कर चुके हैं।

मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ। महिलाओं सहित मतदाताओं की लंबी कतारें विशेष रूप से ग्रामीण इलाकों में देखी जा सकती हैं।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी रजत कुमार ने कहा कि मतदान अब तक शांतिपूर्ण रहा है।

राज्य में सभी 119 निर्वाचन क्षेत्रों के लिए 31 जिलों के सभी 32,815 मतदान केंद्रों में मतदान हो रहा है।

चुनाव अधिकारी ने कहा कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) में तकनीकी गड़बड़ियों के चलते कुछ मतदान केंद्रों में मतदान देर से शुरू हो पाया।

मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव और उनके 14 कैबिनेट सहयोगियों सहित मतदाता 1,821 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे, जिनमें लगभग आधी संख्या महिलाओं की है।

रजत कुमार ने कहा कि 13 निर्वाचन क्षेत्रों को छोड़कर मतदान शाम पांच बजे तक जारी रहेगा। इन 13 निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान एक घंटे पहले समाप्त हो जाएगा।

तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के प्रमुख ने सिद्दीपेट जिले में अपने गांव में मतदान किया और विश्वास जताया कि उनकी पार्टी बहुमत के साथ दोबारा सत्ता में काबिज होगी।

राज्यपाल ई.एस.एल नरसिम्हन और उनकी पत्नी ने राजभवन के पास अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया।

कांग्रेस तेलंगाना इकाई के प्रमुख उत्तम कुमार रेड्डी को कोडाद निर्वाचन क्षेत्र में वोट डाला। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राज्य इकाई प्रमुख के. लक्ष्मण और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने हैदराबाद में वोट डाला।

मतदान प्रक्रिया संपन्न कराने के लिए 1.50 लाख से अधिक मतदानकर्मी तैनात किए गए हैं। मतदान के लिए 55,329 ईवीएम और 39,763 नियंत्रण इकाइयों की व्यवस्था की गई है।

चुनाव में तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) जो कि सभी सीटों पर चुनाव लड़ रही है और विपक्षी कांग्रेस के नेतृत्व वाले पीपुल्स फ्रंट जिसमें तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी और तेलंगाना जन समिति (टीजेएस) शमिल हैं, इनके बीच कड़ी टक्कर होने की उम्मीद है।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), जो कि सभी सीटों पर चुनाव लड़ रही है, कुछ निर्वाचन क्षेत्रों में तीसरी बड़ी पार्टी है। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी-मार्क्‍सवादी और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अगुवाई वाली बहुजन लेफ्ट फ्रंट भी अधिकांश सीटों पर चुनाव लड़ रही है।

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) पार्टी हैदराबाद में आठ सीटों पर चुनाव लड़ रही है।

 

Show More

Related Articles

Close