Main Slideअन्तर्राष्ट्रीयउत्तराखंडतकनीकीप्रदेशरोचक खबरेंव्यापार

Uttarakhand Investors Summit 2018: भूकंप रोधी तकनीक अपनाने में उत्तराखंड की मदद करेगा जापान

उत्तराखंड में भूकंप व दूसरी प्राकृतिक आपदाओं में आपदारोधी तकनीक के इस्तेमाल में जापान ने मदद करने की इच्छा जताई है।

इन्वेस्टर्स समिट-2018 के जापान पाटर्नर कन्ट्री सेशन में जापान एम्बेसडर केन्जी हिरामात्सू ने कहा कि उत्तराखंड में पर्यटन, योगा, खाद्य प्रसंस्करण के क्षेत्र में निवेश की पर्याप्त संभावनाएं हैं। प्रदेश के ऐतिहासिक एवं धार्मिक पर्यटन स्थल जापानी पर्यटकों के लिए आकर्षक हैं और योगाभ्यास के लिए जापानी पर्यटक ऋषिकेष और हरिद्वार को पसंद करते हैं।

केन्जी हिरामात्सू ने उत्तराखंड को भूकंप की दृष्टि से संवेदनशील मानते हुए जापान की इस क्षेत्र में विशेषज्ञता का उपयोग आपदा न्यूनीकरण में किए जाने का आश्वासन दिया।

उन्होंने उत्तराखण्ड में पर्यटन एवं योगा केेन्द्र अवस्थापना विकास में अधिकाधिक रूचि दिखाई। उन्होंने कहा कि जापान खाद्य प्रसंस्करण में विषेषज्ञता रखता है। उन्होंने खाद्य प्रसंस्करण परियोजनाओं में निवेष के लिए एमओयू भी किए जाने का आष्वासन दिया।

सचिव, उत्तराखंड आर मीनाक्षी सुन्दरम ने कहा कि उत्तराखण्ड विगत 10 वर्ष से उत्तर भारत के नए मैनुफैक्चरिंग हब के रुप में उभरा है। प्रदेश में निवेश बढ़ाने के लिए पर्यटन, उद्योग आदि नीतियों में सुविधाएं बढ़ाई गई है। जिसके तहत नई पर्यटन नीति, इलैक्ट्रिक वाहन प्रोत्साहन, आई.टी, आदि अनेक नीतियां बनाई है।

 

Tags
Show More

Related Articles

Close