Main Slideअन्तर्राष्ट्रीयखेलरोचक खबरें

THANK YOU CHEF : क्रिकेट की रसोई के सबसे काबिल कुक ने छोड़ी नौकरी

भारत के खिलाफ आखिरी मैच में खेलते हुए एलिस्टर कुक ने कहा - मैं सिर उठाकर जा सकता हूं।

भारत के खिलाफ वर्ष 2006 में अपने टेस्ट करियर के शुरूआती मैच का आगाज़ एलिस्टर कुक ने शतक लगाकर किया था, तो वहीं अपने क्रिकेट करियर के आखिरी मैच में भी उन्होंने शतक जड़कर यह साबित कर दिया कि वो कितने महान खिलाड़ी है।

विदाई मैच में इग्लैंड ने भारत को भले ही 118 रनों से हराया हो, लेकिन इस मैच में भारतीय और इंग्लैंड टीम के खिलाड़ी और समर्थकों ने कुक को उनके शानदार करियर के लिए अपने-अपने अंदाज़ में उनका धन्यवाद किया।

कुक ने नम आँखों से मैच के बाद कहा,” यह सबसे शानदार सप्ताह रहा। आप सभी मुझे बहुत याद आएंगे। मुझे अब इस टीम की कमी खलेगी। मैं सिर उठाकर जा सकता हूं।”

भारतीय टीम ने एक क्रम में खड़े होकर कुक का मैदान में स्वागत किया, तो वहीं दर्शकों ने उनकी बड़ी-बड़ी तस्वीरों को लेकर उनका आखिरी मैच यादगार बना दिया।

इंग्लैंड ने पांचवां टेस्ट 118 रन से जीतकर पांच मैचों की सीरीज 4-1 से अपने नाम की। कुक ने इस मैच की दूसरी पारी में शतक बनाया और वह ‘मैन आफ द मैच’ भी बने।

” आज का प्रदर्शन यह दिखाता है कि टेस्ट क्रिकेट कितना मुश्किल हो सकता है। जिमी को मैक्ग्रा से आगे निकलते देखना शानदार था। इंग्लैंड के महान क्रिकेटर के साथ खेलना मेरे लिए सम्मान की बात है।” जिमी एंडरसन को बधाई देते हुए कुक ने कहा।

Tags
Show More

Related Articles

Close