Main Slideअन्तर्राष्ट्रीय

नवाज शरीफ ने खोला सबसे बड़ा राज, मुंबई के आतंकी हमले में था पाकिस्तान का हाथ  

इस्लामाबाद।  भ्रष्टाचार के आरोपों में फंसे पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री  नवाज शरीफ ने आखिरकार मुबंई हमलों को लेकर कई सालों से बंद अपनी जुबान खोल दी है। नवाज के इस खुलासे के बाद पाकिस्तान पर संकट के बादल गहरा गए हैं। पूर्व पीएम ने स्वीकार कर लिया है कि मुंबई अटैक में पाकिस्तानी आतंकवादियों का ही हाथ था।

नवाज शरीफ के इस कबूलनामे के बाद पाकिस्तान ने उस दावे को झुठला दिया है जिसमें वह आतंकियों को पालने के आरोपों से पल्ला झाड़ता रहा है। नवाज ने एक इंटरव्यू में स्वीकार किया है कि उनके देश में आतंकवादी संगठन सक्रिय हैं।

नवाज शरीफ ने मुंबई हमलों की पाकिस्‍तान में अटकी सुनवाई पर भी सवाल उठाया है। शुक्रवार को मुल्तान में रैली से पहले ‘द डॉन’ को दिए इंटरव्यू में नवाज ने कहा, ‘आप एक देश को नहीं चला सकते, जब दो या तीन समानांतर सरकारें चल रही हों। यह रोकना होगा। सिर्फ एक ही सरकार हो सकती है, जो संवैधानिक प्रक्रिया से चुनी गई हो।’

नवाज से जब यह पूछा गया कि उनकी नजर में वह कौन सा कारण है जिससे उनकी पीएम की कुर्सी गई तो उन्होंने बातचीत को विदेश नीति और राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे की तरफ मोड़ दिया। नवाज शरीफ ने कहा कुर्बानियों के बावजूद हमारी बात कोई स्वीकार नहीं करता। अफगानिस्तान की कहानी को स्वीकार कर लिया गया, लेकिन हमारी नहीं। हमें इसपर ध्यान देना चाहिए।’

नवाज ने आगे कहा, ‘आतंकवादी संगठन सक्रिय हैं, क्या हमें उन्हें सीमा पार करने और मुंबई में 150 लोगों की हत्या करने की इजाजत दे देनी चाहिए?  बताइए।’ रावलपिंडी आतंकरोधी अदालत में मुंबई हमलों का ट्रायल लंबित होने का हवाला देते हुए नवाज ने कहा, ‘हमने सुनवाई क्यों नहीं पूरी की?’ बता दें कि पाकिस्तान इस बात से हमेशा इनकार करता रहा है कि 2008 के मुंबई हमलों में उसकी कोई भूमिका है।

Tags
Show More

Related Articles

Close