Home / खेल / भाई हैं बेकजोद के आदर्श, पीडब्ल्यूएल में सुशील को हराने की ख्वाहिश

भाई हैं बेकजोद के आदर्श, पीडब्ल्यूएल में सुशील को हराने की ख्वाहिश

नई दिल्ली, 14 जनवरी (आईएएनएस)| प्रो रेसलिंग लीग-3 (पीडब्ल्यूएल) में उज्बेकिस्तानी पहलवान अब्दुराखमोनोव बेकजोद अपना जलवा बिखेर रहे हैं। 74 किलोग्राम भारवर्ग के पिछले दो मुकाबलों में एकतरफा जीत हासिल करने वाले बेकजोद अपनी टीम यूपी दंगल को चैम्पियन बनाना चाहते हैं।

बेकजोद की सबसे बड़ी ख्वाहिश डबल ओलिंपिक मेडलिस्ट सुशील कुमार को हराने की है, जिनके साथ उनका मुकाबला सोमवार को होगा। बेकजोद के मुताबिक वो सुशील कुमार की बहुत इज्जत करते हैं और ओलिंपिक में उनके जैसी सफलता हासिल करना चाहते हैं। प्रो रेसलिंग लीग 3 में सोमवार को यूपी और दिल्ली के बीच होनेवाले मुकाबले में सुशील और बेकजोद की बाउट होगी।

बड़े भाई को वल्र्ड चैम्पियनशिप में खेलता देखकर मिली प्रेरणा

15 मार्च, 1990 को उज्बेकिस्तान के शहर ताशकंद में जन्मे बेकजोद के रेसलर बनने के पीछे उनके बड़े भाई का हाथ है। बेकजोद के बड़े भाई मुज भी रेसलिंग किया करते थे। उनके होम टाउन ताशकंद में जूनियर वल्र्ड चैम्पियनशिप का आयोजन हो रहा था और उस आयोजन को छोटे बेकजोद बड़े भी ध्यान से देख रहे थे। वो अपने बड़े भाई के प्रदर्शन से इतने प्रभावित हो गए कि उन्होंने भी कुश्ती में हाथ आजमाने का फैसला लिया। नौवीं कक्षा तक ताशकंद में पढाई करने के बाद हाई स्कूल की पढ़ाई के लिए वो रूस चले गए और फिर उन्होंने अमेरिका के क्लारियोन यूनिवर्सिटी ऑफ पेनसैलवेनिया से ग्रेजुएट हुए। इसके बाद उन्होंने कुश्ती में हाथ आजमाने का फैसला किया। मौजूदा समय में बेकजोद अपने बड़े भाई से ही कुश्ती की बारीकियां सीखते हैं।

पीडब्ल्यूएल सबसे बड़ा मंच है

प्रो रेसलिंग लीग-3 में यूपी दंगल की ओर से खेल रहे बेकजोद इस लीग को वल्र्ड रेसलिंग के भविष्य के लिए एक अच्छा कदम मानते हैं। बेकजोद के मुताबिक ऐसी लीग से दुनियाभर के पहलवानों को कुश्ती में एक नया आयाम मिलेगा और कुश्ती के विकास में इससे मदद मिलेगी। उधर यूपी टीम के सहमालिक सन्नी कतियाल बेकजोद की सफलताओं से गदगद हैं। सन्नी के मुताबिक, बेकजोद एक बेहतरीन रेसलर हैं और वो बाउट के दौरान बेहद शांत दिमाग का इस्तेमाल करते हैं।

मिक्स्ड मार्शल आर्ट से लेकर फुटबॉल में हैं पारंगत

हंसमुख बेकजोद देखने में भले ही एक सधारण रेसलर लगते हैं लेकिन वो असधारण प्रतिभा के धनी हैं। एक वल्र्ड क्लास रेसलर होने के साथ-साथ बेकजोद एक मिक्स्ड मार्शल आर्टिस्ट भी हैं। साथ ही बेकजोद को फुटबॉल से भी खासा लगाव है। खाली समय में बेकजोद अपने दोस्तों के साथ हैंगआउट करना पसंद करते हैं। 2014 के वल्र्ड चैम्पियनशिप में ब्रॉन्ज मेडल हासिल करने के बाद रियो ओलिंपिक में भाग लिया लेकिन वहां वो शुरूआती दौर में ही बाहर हो गए। हालांकि 2017 बेकजोद के लिए कई सफलताएं लेकर आया। 2017 इंडोर एशियन गेम्स के अलावा उन्होंने एशियन चैम्पियनशिप में भी गोल्ड मेडल हासिल किया। इसी प्रदर्शन की वजह से उन्हें प्रो रेसलिंग लीग की नीलामी में अच्छी रकम मिली।

गौरतलब है कि बेकजोद ने प्रो रेसलिंग लीग 3 में यूपी को दोनों मुकाबलों मे जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई है। बेकजोद ने अपने पहले मुकाबले में पंजाब रॉयल्स के जितेंदर को 9-0 से हराया जबकि दूसरे मुकाबले में उन्होंने मुम्बई महारथी के वीर देव गुलिया को 12-0 से पटखनी दी थी। प्रो रेसलिंग सीजन 3 का आयोजन दिल्ली के सीरीफोर्ट स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स में 9 से 26 जनवरी के बीच किया जा रहा है जिसमें 6 टीमें भाग ले रही हैं।

=>
loading...
उत्तर प्रदेश की खबरें

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com